• Loading stock data...

GST पोर्टल पर ऑनलाइन GST पंजीकरण के लिए आवेदन कैसे करें? (How to apply for GST registration online on GST Portal?)

जीएसटी नियमों के दिशा निर्देश अनुसार, 40 लाख रुपये से अधिक के कारोबार के लिए सामान्य कर योग्य इकाई के रूप में पंजीकृत होना अनिवार्य है। इसे गुड्स एंड सर्विस टैक्स (GST) पंजीकरण प्रक्रिया के रूप में जाना जाता है। जो व्यवसायी पहाड़ी राज्य तथा उत्तर पूर्वी राज्यों में हैं  उनके लिए टर्नओवर की सीमा 10 लाख रुपए है। GST पंजीकरण की प्रक्रिया 6  कार्य दिवसों में पूरी की जाती है।

 GST पंजीकरण GST  पोर्टल के माध्यम से  करना बहुत ही सरल है। GST  के पोर्टल पर जाकर ऑनलाइन आवेदन पत्र भरना होता है तथा उसमें आवश्यक जानकारी तथा दस्तावेज भरने होते हैं। भारत में अब GST  पंजीकरण करवाना अनिवार्य हो गया है और यदि कोई व्यक्ति बिना GST  पंजीकरण के व्यवसाय करता है तो यह कानूनी अपराध है जिसके लिए उन्हें भारी जुर्माना भरना पड़ सकता है।

GST  पंजीकरण किसे कहते हैं? (What is GST registration?)

GST पंजीकरण प्रक्रिया को कहते हैं जिसमें एक करदाता अपने माल और प्रदान की जा रही सेवाओं के तहत पंजीकरण करता है,  इसी प्रक्रिया को GST  पंजीकरण करते हैं जब यह प्रक्रिया पूरी हो जाती है तो आवेदक को पंजीकरण के पश्चात गुड्स एंड सर्विस टैक्स आईडेंटिफिकेशन नंबर के तहत 15 अंकों का GSTIN  केंद्र सरकार द्वारा प्रदान किया जाता है तथा इसी नंबर के आधार पर इस बात का निर्णय किया जाता है कि कोई व्यक्ति भुगतान करने के लिए बाध्य है या नहीं।

Also Read  Fruits Delivery in Gurgaon: Top Picks

GST पंजीकरण कितने प्रकार का होता है? (What are the types of GST registration?)

GST कानून के तहत GST कई प्रकार का हो सकता है।आपको उपयुक्त GST  पंजीकरण का चयन करने से पहले सभी प्रकार के GST पंजीकरण के विषय में ज्ञान होना अति आवश्यक है। 

GST पंजीकरण के प्रकार : – (Types of GST Registration)

  • साधारण करदाता GST  पंजीकरण 

भारत के अधिकतर व्यवसायी  तथा  व्यवसाय इसी श्रेणी में आते हैं। इस श्रेणी में पंजीकरण के लिए करदाताओं को किसी भी प्रकार की जमा राशि नहीं देनी होती है और ना ही इसकी कोई समाप्ति तिथि होती है।

  • आकस्मिक कर योग्य व्यक्ति 

वह व्यक्ति जो मौसमी व्यापार करते हैं जैसे कि कोई स्टॉल लगाना जा दुकान चलाना इस श्रेणी के अंतर्गत आते हैं। इस पंजीकरण के अंतर्गत एक अपेक्षित जीएसटी देयता के बराबर अग्रिम राशि जमा करनी होती है जब वह व्यक्ति कॉल या मौसी दुकान शुरू करते हैं।इस प्रकार के  पंजीकरण की समय सीमा 3 महीने तक होती है परंतु इसे बाद में बढ़ाया भी जा सकता है और नवीनीकृत भी किया जा सकता है।

  • संरचना करदाता

यदि आप GST संरचना करदाता पंजीकरण के तहत  आवेदन करना चाहते हैं तो आप कर सकते हैं। इस पंजीकरण  की श्रेणी के तहत आपको एक फ्लैट जमा करना होता है। इसमें एक बात ध्यान देने योग्य है कि इसमें  इनपुट टैक्स क्रेडिट प्राप्त नहीं किया जा सकता।

  • अनिवासी (NRI) कर योग्य व्यक्ति 
Also Read  Wonderful PVC Velcro Patches Of 2022

यदि कोई व्यक्ति भारत के बाहर रहकर भारत में रहने वाले व्यक्तियों से सामान खरीदना है तो वह NRI व्यक्ति इस प्रकार के जीएसटी पंजीकरण के विकल्प को चुन सकता है। इसमें आपको आप सुमित कर योग्य व्यक्ति के समान ही जीएसटी पंजीकरण सक्रिय होने के लिए अपेक्षित जीएसटी देयता के बराबर  जमा राशि का भुगतान करना पड़ता है। इस प्रकार के  जीएसटी पंजीकरण की समयावधि भी 3 महीने ही होती है और इसे भी 3 महीने पूरे होने के पश्चात बढ़ाया जा सकता है या नवीनीकृत भी किया जा सकता है।

GST पंजीकरण के लिए पात्रता (Eligibility for GST Registration) (Eligibility for GST Registration)

जीएसटी कानून लागू होने से पहले यदि कोई व्यक्ति कर सेवाओं के तहत आता था तो उसके लिए यह अनिवार्य है।

वह व्यक्ति जो एन आर आई हैं,  भारत के बाहर रहते हैं तथा वह भी जो अश्मित कर योग्य  सीमा के अंतर्गत आते हैं।

वे व्यक्ति जो रिवर्स चार्ज मैकेनिज्म के तहत कर का भुगतान करते हैं और सभी ई-कॉमर्स एग्रीगेटर

जिन व्यवसायियों का व्यवसाय 40 लाख रुपए से अधिक होता है वह भी तथा वह जो उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश,  जम्मू कश्मीर और उत्तर पूर्वी राज्यों के क्षेत्रों में रहते हैं उनके लिए यह राशि 10 लाख रुपए से अधिक है।

इनपुट सेवा वितरक और आपूर्तिकर्ता के एजेंट।

Also Read  Gold IRA Companies Red Flags You Need To Watch Out For

वह व्यक्ति जो ई-कॉमर्स एग्रीगेटर के माध्यम से पदार्थों की आपूर्ति करते हैं।

वह व्यक्ति जो भारत के बाहर रहते हैं परंतु भारत में रहने वाले व्यक्तियों को डेटाबेस एक्सेस तथा ऑनलाइन जानकारियां उपलब्ध करवाते हैं और पंजीकृत का योग्य व्यक्ति भी इस श्रेणी में आते हैं।

जिन व्यवस्थाओं का वार्षिक कारोबार 20  लाखों रुपए से अधिक है उनके लिए भी जीएसटी पंजीकरण करना अनिवार्य है अन्यथा उन्हें भारी जुर्माने का भुगतान करना पड़ सकता है।

GST पंजीकरण के लिए आवश्यक दस्तावेज (Documents required for GST registration)

  •  पैन कार्ड
  •  आधार कार्ड
  •  बैंक खाता की पूरी जानकारी
  • निवास प्रमाण पत्र
  •  डिजिटल हस्ताक्षर
  •  फोटो  – जेपीजी फॉरमैट 100 KB 
  • एसोसिएशन के लेख / एसोसिएशन के ज्ञापन
  • कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय द्वारा जारी निगमन का प्रमाण पत्र
  • अधिकृत हस्ताक्षरकर्ता की नियुक्ति का प्रमाण
  • एलएलपी के लिए, पंजीकरण प्रमाणपत्र/एलएलपी बोर्ड संकल्प

GST के पंजीकरण के लाभ (Benefits of GST registration)

  • टैक्स के कैस्केडिंग प्रभाव को समाप्त करता है
  • कर की  प्रकृति में पारदर्शिता
  • कर की चोरी  पर पकड़ 
  • छोटी व्यवसाय फर्मों के लिए संरचना योजनाएं
  • उच्च पंजीकरण सीमा 
  • ऑनलाइन व्यापारियों के लिए उपचार दिशानिर्देश

नया ऑनलाइन GST  पंजीकरण शुल्क कितना होता है? (What is the new online GST registration fee?)

जीएसटी पंजीकरण का आवेदन करने के लिए किसी भी तरह का शुल्क सरकार द्वारा नहीं लिया जाता है परंतु यदि कोई व्यवसाय  बिना जीएसटी पंजीकरण के किया जाता है तो 10%  या ₹10000  जुर्माने के तौर पर देने पड़ते हैं और यदि कर में चोरी पाई जाती है तो 100% तक का जुर्माना लग सकता है।

error: Content is protected !!