• Loading stock data...

ई संजीवनी ओपीडी के बारे में (About E Sanjeevani OPD)

How to register patient in e Sanjeevani OPD

ई-संजीवनी ओपीडी एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है जो भारत के नागरिकों को टेलीमेडिसिन सेवाएं प्रदान करता है। इसे 13 अप्रैल 2020 को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा डिजिटल इंडिया पहल के एक भाग के रूप में लॉन्च किया गया था। इस प्लेटफॉर्म को रोगियों को बिना किसी अस्पताल या डॉक्टर के क्लिनिक जाने की आवश्यकता के उनके घरों में आराम से चिकित्सा परामर्श प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

ई-संजीवनी ओपीडी एक मुफ्त सेवा है जिसे वेबसाइट या मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से एक्सेस किया जा सकता है। यह रोगियों को ऑडियो और वीडियो संचार प्रौद्योगिकी का उपयोग करके दूरस्थ रूप से डॉक्टरों से परामर्श करने की अनुमति देता है। यह पोर्टल कई भाषाओं में उपलब्ध है, जो इसे व्यापक दर्शकों के लिए सुलभ बनाता है।

Also Read  5 Reasons Why Buying a Low premium Car Insurance may not be a Good Idea

अपने लॉन्च के बाद से, ई-संजीवनी ओपीडी को पूरे भारत में रोगियों और स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं दोनों द्वारा व्यापक रूप से अपनाया गया है। मई 2023 तक, प्लेटफॉर्म पर 2 करोड़ से अधिक टेली-परामर्श आयोजित किए जा चुके हैं। यह सेवा भारत के 32 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में उपलब्ध है, जिसमें 700 से अधिक जिले शामिल हैं।

ई-संजीवनी ओपीडी के रोगियों और स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं के लिए कई लाभ हैं। यह रोगियों को अस्पतालों या क्लीनिकों की यात्रा करने की आवश्यकता को समाप्त करते हुए, अपने घरों के आराम से चिकित्सा परामर्श प्राप्त करने की अनुमति देता है। यह विशेष रूप से पुरानी बीमारियों या विकलांग रोगियों के लिए फायदेमंद है। यह स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं के कार्यभार को कम करने में भी मदद करता है, क्योंकि वे भौतिक बुनियादी ढांचे की आवश्यकता के बिना दूरस्थ रूप से कई रोगियों से परामर्श कर सकते हैं।

ई-संजीवनी ओपीडी प्लेटफॉर्म तक पहुंचने के लिए मरीजों को वेबसाइट या मोबाइल एप्लिकेशन पर अपना पंजीकरण कराना होगा। फिर वे उपलब्ध विशेषज्ञों की सूची से डॉक्टर का चयन कर सकते हैं और अपॉइंटमेंट बुक कर सकते हैं। परामर्श ऑडियो और वीडियो संचार प्रौद्योगिकी का उपयोग करके आयोजित किया जा सकता है, और रोगी डॉक्टर के संदर्भ के लिए अपनी चिकित्सा रिपोर्ट और इतिहास भी अपलोड कर सकते हैं।

Also Read   प्रधानमंत्री वय वंदना योजना  ( Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana )

अंत में, ई-संजीवनी ओपीडी एक ऑनलाइन टेलीमेडिसिन प्लेटफॉर्म है जो रोगियों को उनके घरों में आराम से चिकित्सा परामर्श प्रदान करता है। इसे 13 अप्रैल 2020 को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा डिजिटल इंडिया पहल के एक भाग के रूप में लॉन्च किया गया था। इस प्लेटफॉर्म को पूरे भारत में रोगियों और स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं द्वारा व्यापक रूप से अपनाया गया है और इसने 2 करोड़ से अधिक टेली-परामर्श आयोजित किए हैं। यह एक नि:शुल्क सेवा है और यह कई भाषाओं में उपलब्ध है, जिससे इसे व्यापक दर्शकों तक पहुँचा जा सकता है। रोगियों और स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं के लिए प्लेटफ़ॉर्म के कई लाभ हैं, जिसमें पहुँच में वृद्धि और कार्यभार में कमी शामिल है।

Also Read  आयुष्मान भारत योजना 2023 के लिए कैसे  आवेदन करें? (How to apply for Ayushman Bharat Yojana 2023?)

ई संजीवनी ओपीडी में मरीज का रजिस्ट्रेशन कैसे करें? ( How to register patient in e Sanjeevani OPD? )

ई-संजीवनी ओपीडी पर एक रोगी के रूप में पंजीकरण करने के लिए, इन सरल चरणों का पालन करें

ई-संजीवनी ओपीडी वेबसाइट पर जाएं या मोबाइल एप्लिकेशन डाउनलोड करें।
https://esanjeevaniopd.in/About 
होम पेज पर “रोगी पंजीकरण” बटन पर क्लिक करें।
अपना विवरण दर्ज करें जैसे नाम, आयु, लिंग, मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी। आपके मोबाइल पर भेजे गए ओटीपी का उपयोग करके अपना मोबाइल नंबर सत्यापित करें।
अपने खाते के लिए एक पासवर्ड सेट करें।
पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा करने के लिए अपनी ईमेल आईडी पर भेजा गया सत्यापन कोड दर्ज करें।
एक बार जब आप एक रोगी के रूप में पंजीकृत हो जाते हैं, तो आप अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर और पासवर्ड का उपयोग करके ई-संजीवनी ओपीडी प्लेटफॉर्म पर लॉग इन कर सकते हैं।

डॉक्टर के साथ टेली-परामर्श अपॉइंटमेंट बुक करने के लिए, इन चरणों का पालन करें

अपने ई-संजीवनी ओपीडी खाते में लॉग इन करें।
https://esanjeevaniopd.in/Flowstep 
उपलब्ध विशेषज्ञों की सूची में से डॉक्टर का चयन करें और अपॉइंटमेंट बुक करें।
निर्धारित समय पर, अपने ई-संजीवनी ओपीडी खाते में लॉग इन करें और टेली-परामर्श शुरू करने के लिए “जॉइन ओपीडी” बटन पर क्लिक करें।
टेली-परामर्श के दौरान, आप ऑडियो और वीडियो संचार प्रौद्योगिकी का उपयोग करके डॉक्टर से संवाद कर सकते हैं। आप डॉक्टर के संदर्भ के लिए अपनी मेडिकल रिपोर्ट और इतिहास भी अपलोड कर सकते हैं।
यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि मरीजों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उनके पास एक स्थिर इंटरनेट कनेक्शन और टेली-परामर्श सुचारू रूप से संचालित करने के लिए ऑडियो और वीडियो क्षमताओं वाला एक उपकरण है। उन्हें यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि वे गोपनीयता बनाए रखने के लिए टेली-परामर्श के दौरान शांत और निजी स्थान पर हों।

अंत में, ई-संजीवनी ओपीडी पर एक मरीज के रूप में पंजीकरण करना एक सरल प्रक्रिया है जिसे कुछ आसान चरणों में पूरा किया जा सकता है। एक बार पंजीकृत होने के बाद, मरीज प्लेटफॉर्म पर लॉग इन कर सकते हैं और अपनी पसंद के डॉक्टरों के साथ टेली-परामर्श अपॉइंटमेंट बुक कर सकते हैं। टेली-परामर्श के दौरान, मरीज ऑडियो और वीडियो संचार प्रौद्योगिकी का उपयोग करके डॉक्टर से संवाद कर सकते हैं और डॉक्टर के संदर्भ के लिए अपनी चिकित्सा रिपोर्ट अपलोड कर सकते हैं। यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि रोगियों के पास एक स्थिर इंटरनेट कनेक्शन और एक सहज टेली-परामर्श अनुभव के लिए ऑडियो और वीडियो क्षमताओं वाला एक उपकरण हो।

Also Read : How to fill KYC form in UAN portal?

error: Content is protected !!