• Loading stock data...

एसबीआई बैंक में सार्वजनिक भविष्य  निधि खाता  अर्थात पब्लिक प्रोविडेंट फंड अकाउंट कैसे खोलें? (How to open Public Provident Fund Account in SBI Bank?)

How to open PPF

एसबीआई बैंक में पीपीएफ खाता खोलें। (Open PPF Account in SBI Bank.)

यह खाता श्रमिक वर्ग द्वारा सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला सेवानिवृत्ति बचत निधि में से एक है जिसे सार्वजनिक भविष्य निधि अर्थात पब्लिक प्रोविडेंट फंड के नाम से जाना जाता है। इसकी लोकप्रियता का मुख्य कारण दीर्घावधि निवेश स्थितिज बचत तथा चक्रवृद्धि ब्याज का सोना है,  जिसके चलते इस पर आयकर छूट भी मिलती है। 

यदि कोई व्यक्ति पीपीएफ अकाउंट किसी बैंक में खोलना चाहता है तो उसे इसकी जानकारी नहीं होती और या फिर वह कार्यप्रणाली का ज्ञान ना होने के कारण बहुत सी परेशानियों का सामना करता है। एसबीआई बैंक पीपीएफ अकाउंट खोलने के लिए सर्वोत्तम विकल्प है। आपको इस तरह की किसी परेशानी का सामना ना करना पड़े इसलिए हम इस लेख में आपको बताएंगे कि आप एसबीआई बैंक में पीपीएफ अकाउंट कैसे खोल सकते हैं तथा उसके लिए आपको क्या कुछ करना होगा।

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (  सार्वजनिक भविष्य निधि) किसे कहते हैं? (What is Public Provident Fund ?)

यह सुविधा भारतीय नागरिकों को भारत सरकार द्वारा  बैंकों के माध्यम से प्रदान की जाती है,  जिसमें बहुत अच्छी ब्याज दर और रिटर्न भी पीपीएफ खाता धारकों को प्राप्त होता है। इसका सबसे बड़ा लाभ यह है कि यह आयकर अधिनियम की धारा 80 सी  के तहत से पूरी तरह मुक्त है। इससे निवेशकों को यह लाभ मिलता है कि वह 1 वर्ष में अधिक से अधिक 150000 रुपए तक का टैक्स बचा सकते हैं। इसके अतिरिक्त उन्हें ग्राहक ऋण, आंशिक निकासी और खाते के जैसे सुविधाएं भी प्राप्त होती है।इस सुविधा का मुख्य लाभ वह कर्मचारी प्राप्त करते हैं जो असंगठित क्षेत्रों में कार्य करते हैं क्योंकि उनके लिए ईपीएफ/ जीपीएस  जैसी सुविधाएं उपलब्ध नहीं होती है। 

Also Read  The World-Renowned Libertex Draw for 500 Bitcoin, a new Tesla Model Y or the Latest iPhones

पब्लिक प्रोविडेंट फंड  (सार्वजनिक भविष्य निधि)  की विशेषताएं। (Features of Public Provident Fund.)

  •  एसबीआई बैंक में पब्लिक प्रोविडेंट फंड पर सालाना ब्याज दर 7.1% आयकर  अधिनियम की धारा 80c के तहत  छूट मिलती है।
  • इसके तहत खाताधारक 15 वर्षों के लिए दीर्घकालीन निवेश कर सकते हैं।
  •  इस खाते में खाताधारक को कम से कम ₹500 और अधिकतम ₹150000 प्रति वित्तीय वर्ष रखने की छूट मिलती है।
  •  इसके अंतर्गत एक वित्तीय वर्ष में अधिकतम 12 बार लेन-देन में जमा किया जा सकता है।
  •  यदि आप अपने खाते को नियमित रूप से  चालू रखते हैं तो इसमें 3 से 6 वर्ष के बीच आपको लोन की सुविधा भी प्राप्त होती है।
  •  7 वर्ष से  खाताधारक को आंशिक निकासी की सुविधा मिल जाती है और उसके पश्चात में मिच्युओरिटी के बाद 5 साल की अवधि में खाते को और अधिक बढ़ाया जा सकता है।
  • साधारण तहत पीपीएफ खाता किसी भी निर्दिष्ट डाकघर या बैंक की शाखा में खोला जा सकता है परंतु यदि आपका खाता एसबीआई बैंक में है तो आपके लिए यह बहुत ही सुविधाजनक होता है कि आप सभी खातों का प्रबंधन एक साथ एक ही बैंक के माध्यम से कर सकें।
  •  एसबीआई बैंक द्वारा डिजिटल सेवा का भी  शुभारंभ किया गया है जिससे ग्राहकों को 24/7  बैंकिंग सुविधा प्राप्त होती है। इसमें वह  ऑनलाइन सुविधा के माध्यम से सार्वजनिक भविष्य निधि में  आसानी से खाता खोल सकते हैं।
  •  एसबीआई बैंक के द्वारा उपलब्ध करवाए गए डिजिटल चैनल,  इंटरनेट और मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से  इच्छुक आवेदक कहीं भी बैठे हुए बड़े ही आसानी के साथ पब्लिक प्रोविडेंट फंड में खाता खोल सकते हैं। 
Also Read  Here Is What Your Business Needs To Know In Order To Get a Loan 

 एसबीआई बैंक में पब्लिक प्रोविडेंट फंड खाता खोलने के लिए  क्या शर्ते हैं? (What are the conditions for opening Public Provident Fund Account in SBI Bank?)

  •  यदि आप एसबीआई बैंक में पब्लिक प्रोविडेंट फंड  का खाता खुलवाना चाहते हैं तो इसमें आपका एक बचत बैंक खाता भी अवश्य होना चाहिए।
  • आपके पास मोबाइल और नेट बैंकिंग की सुविधा भी उपलब्ध होनी चाहिए।
  • आपका आधार कार्ड का नंबर आपके एसबीआई बैंक खाता के साथ लिंक होना चाहिए।
  • जो मोबाइल नंबर आपके आधार कार्ड से लिंक है वह सक्रिय होना चाहिए ताकि उस पर आपको ओटीपी पासवर्ड प्राप्त हो सके क्योंकि  डिजिटल हस्ताक्षर और ई अधिकृत के लिए  यह अति आवश्यक है।

एसबीआई बैंक में सार्वजनिक भविष्य  निधि खाता  अर्थात पब्लिक प्रोविडेंट फंड अकाउंट कैसे खोलें? (How to open Public Provident Fund Account in SBI Bank?)

इसके लिए आपको सबसे पहले एसबीआई पोर्टल की वेबसाइट पर जाकर यूजर नेम और पासवर्ड डालकर लॉगइन करना होता है।

 उसके पश्चात आपको न्यू पीपीएफ अकाउंट विकल्प का चयन करना होगा।

 जिसके पश्चात आपके नए पीपीएफ अकाउंट पेज पर ग्राहक की जानकारी जैसे कि ग्राहक का नाम,  पता, सीआईएफ नंबर और पैन कार्ड दिखाई देंगे।

Also Read  Unwanted Financial Habits That You May Want to Avoid

 यदि आप किसी नाबालिक बच्चे के लिए यह अकाउंट खोल रहे हैं तो आपको चेकबॉक्स पर क्लिक करना होगा।

 तत्पश्चात आप बैंक ब्रांच कोड और आपके बैंक की ब्रांच का नाम दर्ज करना होगा,  जिसमें आप पांच नॉमिनी  की जानकारी को दर्ज करने के पश्चात सबमिट कर देते हैं।

 दर्ज की गई  जानकारी की  पुष्टि करने के पश्चात प्रॉसीड  पर क्लिक करें ।

 तत्पश्चात परिणाम स्वरूप आपका पीपीएफ अकाउंट बनकर तैयार हो जाता है और स्क्रीन पर आपको पीपीएफ अकाउंट का नंबर भी दिखाई देने लगता है जिसे आप इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से इस्तेमाल कर सकते हैं।

 यह प्रक्रिया पूरी होने के पश्चात प्रिंट पीपीएफ ऑनलाइन एप्लीकेशन टैब को क्लिक करके पंजीकरण फॉर्म का प्रिंट आउट ले लीजिए और उसके पश्चात नजदीकी एसबीआई बैंक की शाखा में जाकर केवाईसी दस्तावेज,  प्रिंटेड फॉर्म और फोटो ग्राफ के साथ इसे  बैंक शाखा में जमा कर दीजिए।

एसबीआई बैंक में पब्लिक प्रोविडेंट फंड खाता खोलते समय ध्यान देने योग्य महत्वपूर्ण बातें। (Important things to note while opening Public Provident Fund Account in SBI Bank.)

कोई भी व्यक्ति एक से अधिक पीपीएफ खाता नहीं खुलवा सकता है, भारतीय कानून के अनुसार एक व्यक्ति को केवल एक पीपीएफ खाता खोलने की अनुमति प्राप्त है।

 एसबीआई बैंक में पीपीएफ खाता खोलने के लिए न्यूनतम ₹500 की जमा राशि का होना अनिवार्य है।

 इस सुविधा का लाभ NRI भारतीय नहीं उठा सकते हैं।

 जिन ग्राहकों ने ऑनलाइन सुविधा के माध्यम से पीपीएफ अकाउंट एसबीआई बैंक में खोला होता है उन्हें पासबुक नजदीकी बैंक शाखा में जाकर प्राप्त करनी होती है।

error: Content is protected !!